गुलाम का राज्याभिषेक ! (निक्की कहानी)

गुलाम का राज्याभिषेक ! (निक्की कहानी)
-----------------------------------


फिर गुलाम ने मालिक से कहा "हजूर, बीच बीच में एक आध कौड़ा मारते रहा कीजिये, गुलामी की फीलिंग आती रहती है" !


यह सुनते ही मालिक ने उसे पांच कौड़े लगाते हुए कहा "मालिकों को नसीहत देता है ? अपनी औकात में रहा कर !"


गुलाम ने झुक कर अपनी सजा को राज्याभिषेक की भांति कबूल किया !


- बलविंदर सिंघ बाईसन